फिल्म अनालिसिस : क्या होगा मोहेंजो दारो का..

* रितिक रोशन की 22 महीने बाद कोई फिल्म प्रदर्शित हो रही है लिहाजा उनको पसंद करने वाले इस फिल्म को देखने के लिए टूट पड़ेंगे।

* जब-जब निर्देशक आशुतोष गोवारीकर ने पीरियड ड्रामा बनाया है सफलता हासिल की है। चाहे लगान हो या जोधा अकबर। इस विषय पर उनकी अच्छी पकड़ है। मोहेंजो दारो में भी घड़ी की सुइयों को उन्होंने पीछे की ओर घुमाया है।

* बहुत खोज, अध्ययन कर यह फिल्म बनाई गई है। आशुतोष ने किसी तरह का समझौता नहीं किया है। फिल्म पर पैसा पानी की तरह बहाया गया है और इसे अंतराष्ट्रीय लुक देने की कोशिश की गई है।

* मल्टीप्लेक्स ऑडियंस को यह फिल्म पसंद आ सकती है और यही से सर्वाधिक कलेक्शन आते हैं।

* समझदार दर्शकों का ‘मोहेंजो दारो’ के प्रति रुझान।

* फिल्म का शीर्षक उसकी थीम के अनुरूप है, लेकिन आम दर्शकों को इससे कुछ पल्ले नहीं पड़ता।

* रितिक रोशन के अलावा फिल्म में कोई बड़ा नाम नहीं है।

* आशुतोष गोवारीकर की पिछली दो फिल्में बुरी तरह असफल रही हैं।

* फिल्म 145 करोड़ रुपये में तैयार हुई है। इसका बजट बहुत ज्यादा है। वसूली के लिए 165 करोड़ रुपये से भी ज्यादा का व्यवसाय करना होगा।

* फिल्म का ट्रेलर नापसंद किया गया था।

* इतिहास आधारित फिल्मों में युवा दर्शक रूचि नहीं लेते हैं।

* फिल्म का संगीत पॉपुलर नहीं हुआ।

* फिल्म के प्रचार की गुणवत्ता ठीक नहीं थी। दर्शको कन्फ्यूज है कि यह किस तरह की फिल्म है।

* बजट को देखते हुए फिल्म को बॉक्स ऑफिस पर जोरदार शुरुआत करनी होगी, लेकिन ‘रुस्तम’ के होते हुए ये संभव नहीं है। यह फिल्म माउथ पब्लिसिटी पर बहुत ज्यादा निर्भर करती है। यदि फिल्म अच्छी हो तो चल निकलेगी जैसा कि ‘बाजीराव मस्तानी’ के समय हुआ था।

* छोटे शहर और सिंगल स्क्रीन सिनेमाघरों में फिल्म को मुश्किल का सामना करना पड़ सकता है।

बॉक्स ऑफिस पर संभावना

फिल्म ट्रेड ‘मोहेंजो दारो’ को लेकर संशय में है क्योंकि फिल्म का बजट बहुत ज्यादा है। पहले दिन का आंकड़ा 10 करोड़ के आसपास रहने की उम्मीद है। वीकेंड 45 करोड़ के आसपास रह सकता है। फिल्म पहले सप्ताह के बिजनेस में ‘रुस्तम’ से पीछे रह सकती है। उसके बाद इसका चलना इसकी गुणवत्ता पर निर्भर रहेगा।

779 Total Views 3 Views Today

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Whatspp dwara kavita bhejne ke liye yahan click karein.