# Kavita by Imrana

नारी के रूप =============== महिलाओं से पुरुष हैं जन्मे उनको मानते हो अभिशाप बदल लो अपने तेवर को बहुत पड़ेगा

Read more
Whatspp dwara kavita bhejne ke liye yahan click karein.