#Kavita by Neeraj dwivedi

प्रेम , सौहार्द और मित्रता के रंग चढ़ायें होली में ईर्ष्या द्वेष और अज्ञान का रंग छुड़ायें होली में कल्पित

Share This
Read more