#Gazal by SHANTI SWAROOP MISHRA

अइ दिल तू हर किसी से, इतना प्यार मत कर ! मस्त है ये दुनिया, किसी का इंतज़ार मत कर ! रहना है तुझे अकेला बस कर जुगत उसकी तू, यारा किसी और के काँधे पर, ऐतबार मत कर ! न समझता है दुःख दर्द कोई भी किसी के अब, अपने ग़मों का तमाशा, तू सरे बाज़ार मत कर ! ये चमकते सितारे तो मिल्कियत हैं आसमां की, फ़िज़ूल उनकी चाहत में, दिल बेक़रार मत…

Share This
"#Gazal by SHANTI SWAROOP MISHRA"