Kavita Sangrh , for Mother”s Day

Happy Mother”s Day पर  साहित्यकारों से प्राप्त रचनाओं का संग्रह : –   Brijendra Singh Saral   माँ   जिसकी एक छुअन से मेरा, रोम रोम हर्षाता है । मेरे हर शुभ अशुभ कार्य की, वह ही भाग्य विधाता है।। उसको हम क्या दे पायेंगे, जिसने दे दीं हैं साँसें । सब सुख दे वह दुख अपनाती, ऐसी मेरी माता है।।   कण्टक मिलते जब राहों में, वह पलकों से चुन लेती । अपनी संतति…

Share This
"Kavita Sangrh , for Mother”s Day"