#kavita by Tejvir Singh Tej

मङ्गलाचरण में भगवान शिव स्तुति   –   दोधक/बन्धु/मधु छंद   –  शिल्प-भ भ भ+गु+गु हे! अभयंकर हे! अविनाशी। नाथ सनाथ

Share This
Read more