#Kavita by Ram Shukla

बाबा बर्फानी के भक्तों का क्या जीवन लौटा पाओगे बोलो अब दिल्ली के दरबारों अब क्या निन्दा रस बरसाओगे या

Share This
Read more