#Kavita by Rifat Shaheen

वो मेरी ज़िन्दगी में आया रमजान की तरह पाकीज़ा,उजला,नुरानीयत से लबरेज़ और मेरी  भूक प्यास ले गया फिर मैं, उसकी

Read more
Whatspp dwara kavita bhejne ke liye yahan click karein.