#Kavita by Rifat Shaheen

वो मेरी ज़िन्दगी में आया रमजान की तरह पाकीज़ा,उजला,नुरानीयत से लबरेज़ और मेरी  भूक प्यास ले गया फिर मैं, उसकी

Read more