#Kavita by Nisha Gupta

बंसन्त आगमन की हार्दिक शुभकामनाएं 💐💐💐💐🌳🌾🎋 जीवन में बासंती बयार ऐसे ही बहती रहे ज्यूँ फूलों पर भवँरा करे गुंजार

Read more

#Kavita by Sunita Bishnoliya

सरस्वती वंदना     श्वेतवर्णी सरस्वती माँ,शारदे हमें तार दे… विद्या,बुद्धि,शील के गुण,भर सकल संसार में।   भूल जाएँ द्वेष

Read more

#Muktak by Vijay Narayan Agrwal

–:दोहा मुक्तक:–1 देश काल की लब्धता,ध्रुपद मुकुल सन्ताप, ऐसे में सौभाग्य से,जनक विमोहित जाप, चले खुशी का हल लिये,”भ्रमर”विभव के

Read more

#Kavita by Salil Saroj

नन्हें कंधों पे किताबों का इतना बोझ देखकर, मेरा व्याकुल मन और भी ज्यादा सिहर जाता है।   जूते,मोजे,थर्मस,बेल्ट,कपड़े और

Read more

Muktak by Kavi D M Gupta

-एक मुक्तक——–   हे वीणावादिनी  माँ मुझको  ज्ञान  बुद्धि  से  भर  देना। नित गाऊं  भारत  का  गौरव  ऐसा  मुझको  स्वर 

Read more