#Lekh by Swayambhu Shalabh

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर आज देशभर में आयोजित हो रहे विभिन्न कार्यक्रमों के बीच चलिये आज इसी विषय पर कुछ

Read more

#Kavita by Binod Kumar

विश्व महिला दिवस🏃🏽‍♀ —————————————- केवल महिला दिवस मनाकर, न झूठा सम्मान दिखायें। जो दहेज ले शादी करते, ऐसी शादी में

Read more

#Kavita by Kumar Sonal

… अन्तराष्ट्रीय नारी दिवस …. नारी का, त्याग तपोबल सूरज सा, उसका, हर कर्म निःस्वार्थ है, है धरा, घर निश्छल

Read more

#Kavita by Mukesh Madhuram

इक्कीसवीं सदी -नारी दुर्गा की शक्ति है नारी मीरा की भक्ति है नारी पतित मनुष्यता की खेवनहारी दया प्रेम करुणा

Read more

#Gazal by Shanti Swaroop Mishra

दिल के शोलों की जलन, हमसे पूंछो! कैसी है कांटो की चुभन, हमसे पूंछो! हो चुका है ख़त्म दौर–ए–शराफत अब, दोरंगी दुनिया का चलन, हमसे पूंछो! न समझो माली को बगीचे का मालिक,  अब कैसे उजड़ते हैं चमन, हमसे पूंछो ! आज़ाद ज़िंदगी जीना तो सपना है अब, कैसे होता है उसका दमन, हमसे पूंछो! न उठाये फिरिये ग़मों का पहाड़ “मिश्र“, इसमें होता है कितना वजन, हमसे पूंछो !   शांती स्वरुप मिश्र  

Read more

#Muktak by Begraj Kalwasia

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस(8 मार्च) समर्पित मेरे दोहों का एक गुलदस्ता ।💐💐💐💐💐💐💐 ___________ ************   नारी तू नारायणी,   जीवन का आधार

Read more