#Kavita by Prem Prakash

‘तुम्हरा इंतजार सिर्फ तुम्हरा’   अब से सिर्फ तुम्हरा इंतजार इंतजार है तुम्हरा आ जाओ कब तक तुम्हारे बिना जिए

Read more

#Kavita by Binod Kumar

गन्दी आदत है😱 —————————————- कचड़ा सड़क पर फेंकना, गन्दी आदत है। बीच में किसी को टोकना, गन्दी आदत है। जहाँ

Read more