#Kavita by Arun Kumar Arya

राम का आदर्श ****** धनुर्धारी राम कहाँ भाएंगे कायरों में स्वार्थियों में कैसे उनके त्याग समाएंगे कैसे अपना पाएंगे उन्हें

Read more

#Gazal by Shanti Swaroop Mishra

दास्ताने ज़िंदगी, मैं साथ लिये जाता हूँ ! टूते हुए दिलको, मैं साथ लिये जाता हूँ !   मांग लेना जान भी गर ज़रूरत हो तुझे,    बची है ज़रा सी, उसे साथ लिये जाता हूँ !    खिली रहे धूप खुशियों की चेहरे पर तेरे, गमों का हर बादल, मैं साथ लिये जाता हूँ !    निकाल देना यादों को मेरी दिल से अपने,  तेरी यादों का ज़खीरा, मैं साथ लिये जाता हूँ !   हम पायेंगे मोहब्बत की सज़ा उम्र भर “मिश्र“,   तेरे प्यार की हर अदा, मैं साथ लिये जाता हूँ !

Read more

#Kavita by Mohit Jagetiya

“जय विजय हमारा राजस्थान”   जय विजय हमारा राजस्थान जय जय प्यारा ये राजस्थान।। मरुस्थल वाला ये रेगिस्तान सबसे आगें

Read more

#Kavita by Dr Prashant Dev Mishra

मेरा मिज़ाज, थोड़ा गर्म है, मुहब्बत के मामले में, बिल्कुल अमोनियम क्लोराइड गैस की तरह, जो तुम्हारी नजरअंदाजी की ऑक्सीजन

Read more