#Kavita by Arun Kumar Arya

राम का आदर्श ****** धनुर्धारी राम कहाँ भाएंगे कायरों में स्वार्थियों में कैसे उनके त्याग समाएंगे कैसे अपना पाएंगे उन्हें

Read more

#Gazal by Shanti Swaroop Mishra

दास्ताने ज़िंदगी, मैं साथ लिये जाता हूँ ! टूते हुए दिलको, मैं साथ लिये जाता हूँ !   मांग लेना जान भी गर ज़रूरत हो तुझे,    बची है ज़रा सी, उसे साथ लिये जाता हूँ !    खिली रहे धूप खुशियों की चेहरे पर तेरे, गमों का हर बादल, मैं साथ लिये जाता हूँ !    निकाल देना यादों को मेरी दिल से अपने,  तेरी यादों का ज़खीरा, मैं साथ लिये जाता हूँ !   हम पायेंगे मोहब्बत की सज़ा उम्र भर “मिश्र“,   तेरे प्यार की हर अदा, मैं साथ लिये जाता हूँ !

Read more

#Kavita by Mohit Jagetiya

“जय विजय हमारा राजस्थान”   जय विजय हमारा राजस्थान जय जय प्यारा ये राजस्थान।। मरुस्थल वाला ये रेगिस्तान सबसे आगें

Read more

#Kavita by Dr Prashant Dev Mishra

मेरा मिज़ाज, थोड़ा गर्म है, मुहब्बत के मामले में, बिल्कुल अमोनियम क्लोराइड गैस की तरह, जो तुम्हारी नजरअंदाजी की ऑक्सीजन

Read more
Whatspp dwara kavita bhejne ke liye yahan click karein.