#Gazal by Ishq Sharma

अभी अभी आँखों के रस्ते कोई गुज़र कर गया है मुझे निहार कर कम्बख़्त कोई,  मुकर कर गया है “””””””””””””””””””””””””””””””””””””””””””””””””””””””

Read more
Whatspp dwara kavita bhejne ke liye yahan click karein.