#Kavita by Rajendra Bahuguna

सामयिक राजनैतिक घटनाक्रम जनता क्यों  पागल  बनती   है  चोरों को  नेता चुनती है फर्जी  वोट  कंहा  से  आते,  मुर्दे  को 

Read more

#Kavita by Mainudeen Kohri

साख  बधाई लुगायां,इतिहास भरै साख पन्ना – पदमण,मीरां  री पहचाण रंग  रुड़ो  घणो है राजस्थान महारो…………………………..! खनिज  सम्पदा सूं  भरपूर

Read more

#Gazal by Ishq Sharma

मुझे कहती है कि, चलो चाँद पर जाएंगे मैंने कहा तुम्हारे रहते हम किधर जाएंगे “””””””””””””””””””””””””””””””””””””””””””” वो शरमा कर बाँहों

Read more

#Kavita by Ramesh Raj

रमेशराज का लोकगीत –“ डिजीटल कर ले लांगुरिया “ ————————————————————– दाल डिजीटल हो गयी, उसके सँग में प्याज चकाचौंध में

Read more