#Gazal by Shanti swaroop Mishra

ज़िन्दगी के तमाशे भी यारो, कितने अजीब होते हैं, देखते है घुस कर वही, जो दिल के करीब होते हैं !   कितना भी निभाओ रिश्ते पर मिलनी है लानतें ही, पर सोच कर क्या मरना, अपने अपने नसीब होते हैं !   कोई तो है जो करता है तय पत्थरों के मुकद्दर भी, तभी तो कुछ मंदिर में, तो कुछ राहों के बीच होते हैं !   न पूंछो कि गिर चुके हैं लोग कितने इस दुनिया के, कि मुखौटा शराफत का, मगर अंदर से नीच होते हैं !   शांती स्वरुप मिश्र 

Read more

#Gazal by Vicky Jane

मिलाना सीख ले….. ——————————————– दुश्मनों के खिलाफ़ आवाज उठाना सीख ले!! हकीकत से तु नजरें मिलाना सीख ले!!   गुजारे़गा

Read more

#Gazal by Ishq Sharma

तुमने बाँहो में कसकर जकड़ा है मुझे स्याह रातों में  ये  ख्याल अच्छा लगा •••••••••••••••••••••••••••••••••••• मगर तलब तुझे भी हो

Read more