#Gazal by Shanti swaroop Mishra

ज़िन्दगी के तमाशे भी यारो, कितने अजीब होते हैं, देखते है घुस कर वही, जो दिल के करीब होते हैं !   कितना भी निभाओ रिश्ते पर मिलनी है लानतें ही, पर सोच कर क्या मरना, अपने अपने नसीब होते हैं !   कोई तो है जो करता है तय पत्थरों के मुकद्दर भी, तभी तो कुछ मंदिर में, तो कुछ राहों के बीच होते हैं !   न पूंछो कि गिर चुके हैं लोग कितने इस दुनिया के, कि मुखौटा शराफत का, मगर अंदर से नीच होते हैं !   शांती स्वरुप मिश्र 

Read more

#Gazal by Vicky Jane

मिलाना सीख ले….. ——————————————– दुश्मनों के खिलाफ़ आवाज उठाना सीख ले!! हकीकत से तु नजरें मिलाना सीख ले!!   गुजारे़गा

Read more

#Gazal by Ishq Sharma

तुमने बाँहो में कसकर जकड़ा है मुझे स्याह रातों में  ये  ख्याल अच्छा लगा •••••••••••••••••••••••••••••••••••• मगर तलब तुझे भी हो

Read more
Whatspp dwara kavita bhejne ke liye yahan click karein.