#Kavita by Acharya Amit

तुम बहुत इश्तेहार लगाते हो हर गली-मोहल्ले नुक्कड़-चौराहों पर आज हमने भी तुम्हारा एक इश्तेहार पढ़ा है किसी की खूबसूरत

Read more