#Kavita by Ramesh Raj

माँ-बच्चा और रोटी विषयक रमेशराज की एक बेहद मार्मिक कविता ———————————————————- बच्चा मांगता है रोटी मां चूमती है गाल |

Read more

#Kavita by Arun Kumar Arya

माँ भगवती भगवान ******* माँ बनाकर जगती भर में नारी को जगतनियन्ता हो गए अन्तर्ध्यान सृष्टि अग्रसारित करती माँ बन

Read more

#Kavita by Prem Prakash

उनका आशियाना मेरा ठिकाना उनका रूठना उनका इतराना उनका करार करना उनका आशियाना मेरा घर उनका बेवस होना मैं बेहाल

Read more

#Kavita by Binod Kumar

मनहरण घनाक्षरी ९ शिल्प -८,८,८,७ वर्ण चार चरण। विषय-ईश्वरम्बा दिवस ईश्वरम्बा है दिवस, याद सदा रखे बस, आज बाल विकास

Read more
Whatspp dwara kavita bhejne ke liye yahan click karein.