#Kavita by Ishq Sharma

इश्क़ु ••••••••••••••••••• मातृदिवस की बधाई, एक पैगाम “माँ” के नाम ••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••• वो तकलीफ घुटनों की, पल में भूला देती है।

Read more

#Kavita by Dinesh Kumar , D K Shayar

माँकेफेसबुकियाऔरव्हाट्सएपकेलाडलोंकेलिये आज के दिन मातृ दिवस, रविवार  में  त्योहार है । एक वर्ष बाद याद आया सिर्फ़  माँ  का  प्यार 

Read more

#Lekh ( Pustak Samiksha) by Subodh Srivastava

पुस्तक समीक्षा: ‘सरहदें’-कवि कलम की चाह लेकर सर हदें-आचार्य संजीव सलिल —————————————————————————————————     मूल्यों के अवमूल्यन, नैतिकता के क्षरण

Read more

#Muktak by Vijay Narayan Agrwal

दोहा:– हिय हुलास परमात्मा,देता आतम ज्ञान। वैसे  जैसे  प्रेम  में,छिपा हुआ कल्यान।।   मुक्तक:– स्वयं को पहचान लेने से, बड़ा

Read more
Whatspp dwara kavita bhejne ke liye yahan click karein.