#Kavita by Ajay Jaihari Kirtipad

कवियों पर जीएसटी—-   अठारह प्रसेन्ट …जीएसटी लगाकर। क्या कवियों की ………..जान लोगों। साहित्य को उखाड़ ….फैकोगों जमी से। या

Read more

#Gazal by Ishq Sharma

इश्क़ ऐ इश्क़ ••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••• हर रात सितारों की तरह राह तकते है। तुम ही बनो मेरी ज़िंदगी चाह रखते है।

Read more