#Kavita by Acharya Amit

आओ मिलकर दुनियां बनाते है मैं दर्द को छुपाउंगा बस तुम मुस्कुराते रहना हो सकता है तुम्हारी मुस्कुराहट एक रोज़

Read more

#Gazal by Ishq Sharma

वक़्त-बे’वक़्त तुमपे, वक़्त कितना निसार करें? तुम भी करो जाने, हम तुम्हें कितना प्यार करें? •••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••••• अधिकार जितना है मेरा,

Read more