#Gazal by Pradeep Dhruv Bhopali

ग़ज़ल■■■■■■ वज़्न/अर्कान-212×4, फाउलुन×4,रदीब-हुनरमंद को क़ाफिया-“ओ(स्वर)या..ओ. आइना मत दिखाओ हुनरमंद को। रास्ता मत बताओ हुनरमंद को। बात होगी नहीं यार उसको

Read more

#Kavita by Ramesh Raj

मुक्तछंद- ।। मासूम चिडि़याएं ।। पेड़ होता जा रहा है चालाक और चिड़ीमार। मासूम चिडि़याएं उसकी साजिशों की शिकार हो

Read more

#Kavita by Ashutosh Anand Dubey

महान स्वतंत्रता सेनानी राष्ट्रवीर दुर्गादास राठौर जी की जयंती पर उनकी जीवनी पर आधारित कविता उन्हें ही समर्पित भारत माता

Read more