#Kavita by Anantram Chaubey

तिरंगा प्यारा तीन रंग का तिरंगा प्यारा । हरा सफेद केशरिया प्यारा । पूरव पश्चिम उत्तर दक्षिण चहूओर फहराये तिरंगा

Read more

#Lekh by Ramesh Raj

” क्रांतिकारी भगतसिंह +रमेशराज —————————————————————– युग-युग से पंजाब वीरता, पौरुष और शौर्य का प्रतीक रहा है। सिखों के समस्त दस

Read more

#Kavita by Pradeep Mani Tiwari

चार पंक्तियाँ…………. ■■■■■■■■■■■■■■ ऐ अमर वीर बलिदानी भारत के सपूत अंगार लिखो। तुम मातृभूमि के लिए करो उत्सर्ग और तुम

Read more

#Gazal by Shanti Swaroop Mishra

यारो दुनिया के अब तो, रिवाज़ बदल गए ! यहां हर किसी के अब तो, अंदाज़ बदल गए ! न मिलती मोहब्बत के बदले मोहब्बत अब, अब तो लोगों के लोगों से, लिहाज़ बदल गए ! न होता कोई शामिल औरों के दुःख में अब, यारो हर किसी के अब तो, मिज़ाज़ बदल गए ! चढ़ गया है रंग सब पर इस ज़माने का दोस्तो, अब तो परिंदों के भी देखो ,परवाज़ बदल गए ! पहले तो लोग लिखते थे सीधी सी सच्ची बातें, पर अफसानों के अब तो, अलफ़ाज़ बदल गए ! चालाकियां पहले भी थीं पर इतनी न थीं “मिश्र”, पर अब तो देखते ही देखते, अरबाज़ बदल गए ! शांती स्वरूप मिश्र

Read more

#Kavita by Chandra Kanta Siwal

आजादी के पावन पर्व स्वतंत्रता दिवस की सभी देशवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं। रक्त की हर बूंद अपने राष्ट्र अर्पण कीजिए।

Read more

#Kavita by Ashrit Katheria

आओ मिलकर हर्षित हों, आज़ादी का पर्व मनाएं!   घर, दफ़्तर या विद्यालय, दिल्ली, लेह या हिमालय! राष्ट्रध्वज तिरंगा फ़हराकर,

Read more