#Lekh by Ramesh Raj

नयी विधा के पुरोधा कविवर रमेशराज +डॉ. रामकृष्ण शर्मा ————————————————— साहित्य जीवन का सबसे बड़ा सत्य भी है और शृंगार

Read more

#Kavita by Sunil Gupta

“मन-मंदिर ह़ोता” “जीवन में अपने साथी, काश- मन-मंदिर होता। बसती प्रभु मूरत मन में, साथी- दृढ़ होता विश्वास। मिटती कटुता

Read more

#Kavita by Avdhesh Kumar Avadh

पुत्रमोह पुत्रमोह में गर्भ मिटाना छोड़ो जी। दकियानूसी गलत प्रथायें तोड़ो जी। नैसर्गिक अधिकार जीव का आना है- प्रकृति नियम

Read more