#Tewari by Ramesh Raj

मुक्तक-विन्यास में तेवरी 💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐 पीयें ठर्रा-रम बम भोले हम सबसे उत्तम बम भोले | जनता से नाता तोड़ लिखें सत्ता

Read more

#Kavita by Sunil Gupta

“बसेरा” “जहाँ बैठे वही बसेरा, साँझ हो या सबेरा। सारी दुनियाँ हैं सिमटी, यहाँ कौन-तेरा मेरा? माँगे हैं खाना -पीना,

Read more