#Sunil gupta

“आघात” “अपने -अपने हो साथी, बना रहे संग- अपनत्व का हो शोर। हास-परिहास हो इतना साथी, छाये न कटुता- टूटे

Read more