#Lekh by Amit Khare Sevada

युवाओं की भागीदारी से प्रभावी होता सृजन संवाद *************** साहित्य अकादमी की कार्यशालाओं में शामिल होने का  मेरा ये दूसरा

Share This
Read more

#Kavita by Raj Malpani

क़ुदरत के विधा होते है  व्रक्ष  विलक्षण दारोहर को बचाये रखना अपना लक्षण व्रक्षो से धरती को  सजाने  का ले 

Share This
Read more

#Kavita by Manglesh Jaiswal

शांति का पैगाम   भारत भूमि हमारी देवोपवन है। अनमोल रिश्ते हमारे अनुपम है।।   अमन-चेन-शांति इसके गहने है। हम

Share This
Read more

#Kavita by Sanjeev Tyagi

राष्ट्रवाद   राष्ट्रवाद की क्या परिभाषा, तुमको आज बताता हूँ। जो जयचन्दों ने पहना चश्मा, उसको आज हटाता हूँ।  

Share This
Read more

#Kavita by Rakesh Yadav Raj

चित्रप्रदा छन्द **** विधान :~भगण भगण गुरु गुरु। 8वर्ण प्रतिचरण, 4चरण,2-2 चरण समतुकान्त।   हे! जगपालक आओ। कष्ट हरो सुख

Share This
Read more