#Bal Kahani by Dipesh Paliwal

बाल कहानी

 

★संगठन में शक्ति है★

 

प्राचीन समय की बात हैं  एक  जंगल मे एक  शेर – शेरनी रहते थे ,उनके दो छोटे – छोटे बच्चें थे। यह चारो बड़े ही प्रेम से अपना जीवन जंगल के अन्य जानवरों के संग हँसी – खुशी व्यतीत कर रहे थे। जंगल मे  खुशहाली का माहौल था। सभी जानवर बड़े ही मज़े से रह रहे थे ।

 

कुछ दिन बीते ओर जंगल मे एक खतरनाक शिकारी आया। आते ही उसने जंगल में प्रलय मचा दिया भाले जानवरो को परेशान करना शुरू कर दिया ,अब क्या था शिकारी के आने की बात जंगल मे आग की तरह फैल गई , सभी जानवर सचेत हो गए। शिकारी कई दिनों तक जंगल मे आता रहा किन्तु किसी भी जानवर का शिकार नही पर पाया। तो उसने  कुछ दिन जंगल आना बंद कर दिया और फिर एक दिन वापस जंगल आया और उसने शेरनी को पकड़ लिया और अपने साथ ले गया। शेरनी को ले जाने की खबर प्राप्त करते ही  शेर क्रोधावेश में आकर शेरनी को छुड़वाने अकेला ही निकल पड़ा । परिणामस्वरूप शिकारी ने चतुराई दिखाते हुए शेर को भी बन्दी बना लिया।

 

जंगल के राजा और रानी दौनो के बन्दी हो जाने पर जंगल मे हा हा कार मच गया सभी जानवर घबरा गए अब क्या होगा। फिर क्या होना था शिकारी रोज़ आता और एक न एक जानवर को बन्दी बनाकर ले जाता , यह सिलसिला  कई दिनों तक चलता रहा , शिकारी  आता और किसी न किसी का शिकर करके ले जाता ।

 

इस रोज की परेशानी से निपटने के लिए हाथी काका ने मीटिंग बुलाई  जिसकी अध्यक्षता बन्दर मामा की, भालू डॉन मुख्य अतिथि ,खरगोश पप्पू पेजर विशिष्ट अतिथि ओर जंगल के सभी जानवर मौजूद रहे।इसमे चर्चा हुई कि शिकारी एक बार मे एक ही शिकार करता है और अकेले जानवर का शिकार करता है तो कोई अकेला नही रहेगा ओर सभी एक दूसरे का साथ देंगे और राजा और अन्य साथियों को आजाद करवाएंगे। ओर एक संघठन  की स्थापना की गई।

जिसे  अखिल भारतीय जानवार संगठन का नाम दिया गया।

 

आपसी समझौते से निर्णय लिया गया कि कल सुबह पहली किरण पर शिकारी  के घर पर आक्रमण होगा, ऐसी बीच बन्दर मामा ओर भालू डॉन ने अपनी सैना को हमले के आदेश जारी कर दिए । फिर क्या होना  था अगले दिन वानर सेना ओर सभी जानवरो ने शिकारी के घर हल्ला बोल दिया शिकारी को जान बचा कर भागना पड़ा और साथ सभी जानवरो के आपसी सहयोग से राजा रानी और सभी जानवर स्वतंत्र हो गए ।

 

दीपेश पालीवाल , गाँव :- गोगला  तह :-  झाड़ोल

जिला :- उदयपुर राज. 9950716258

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.