#Gazal By Ramesh Raj

रुक्न के अनुसार हू-ब-हू, बिना मात्रा गिराए एक ग़ज़ल- बहर-फायलातुन फायलातुन फायलुन ** आप तो अहले-शरारत हैं बहुत आपसे हमको

Read more