#Kavita by Kavi Mukesh aman

भारतीय उपमहाद्वीप के माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के महत्वांकाक्षी मिशन स्वच्छ भारत को लेकर कवि मुकेश बोहरा अमन द्वारा

Read more

#Kavita by Dr. Yasmeen Khan

घनी टेढ़ी-औ-तिरछी आरियाँ हैं मुहब्बत में बड़ी दुश्वारियाँ हैं हवाओं को न आने दो यहाँ तक। सुलगती राख में चिंगारियाँ

Read more

#Kavita by Tejvir Singh Tej

….नहीं सुनते!!! ********** अगरचे कम नहीं सुनते,सुनो बेग़म…नहीं सुनते। “हमारी तुम नहीं सुनते,तुम्हारी हम नहीं सुनते”। ख़याल-ए-दिल तो अच्छा है,रहो

Read more