#Lekh by Vishal Shukla

प्रसंगवश हमारा प्यारा लोकतंत्र छोटी संख्या जब बड़ी संख्या पर प्रहार करती है तो समझिए वो नालायको का ही उद्धार

Read more

#Lekh ( Pustak Samiksha) by Subodh Srivastava

पुस्तक समीक्षा: ‘सरहदें’-कवि कलम की चाह लेकर सर हदें-आचार्य संजीव सलिल —————————————————————————————————     मूल्यों के अवमूल्यन, नैतिकता के क्षरण

Read more

Samiksa by Avdhesh Kumar Avadh

पुस्तक समीक्षा : अन्तर्ध्वनि   समीक्षक : अवधेश कुमार ‘अवध’   मनुष्यों में पाँचों इन्द्रियाँ कमोबेश सक्रिय होती हैं जो

Read more

#Lekh by Ramesh Raj

जीवन के अंतिम दिनों में गौतम बुद्ध +रमेशराज ——————————————————————- सत्य और धर्म के वास्तविक स्वरूप को समझाने के लिये समाजिक

Read more

#Lekh by Ramesh Raj

नव नवोन्मेषी साहित्य-साधक ‘ रमेशराज ’ +डॉ. रमेश प्रसून ————————————————– ‘ घर का जोगी जोगना, आन गाँव का सिद्ध ‘

Read more

#Kavita by Ramesh Raj

डॉ. नामवर सिंह की रसदृष्टि या दृष्टिदोष +रमेशराज ———————————————————————— ‘‘जो केवल अपनी अनुभूति-क्षमता के मिथ्याभिमान के बल पर नयी कविता

Read more

#Lekh by Ravindra Bramar ( Ramesh Raj )

तेवरीः युवा आक्रोश की तीसरी आँख +डॉ . रवीन्द्र ‘भ्रमर’ ———————————————————————– ‘तेवरी’ के प्रति मेरा ध्यान निरन्तर आकर्षित होता रहा

Read more

# Lekh By Ramesh Raj

हिन्दी ग़ज़लः सवाल सार्थकता का? +रमेशराज ग़ज़ल अपनी सारी शर्तों, ;कथ्य अर्थात् आत्मरूप-प्रणयात्मकता तथा शिल्परूप- बह्र, मतला, मक्ता, अन्त्यानुप्रासिक व्यवस्था

Read more

#Lekh by Dr Ved Prakash Abhitabh

श्री रामचरन गुप्त एक उच्चकोटि के लोककवि +डॉ. वेदप्रकाश ‘अमिताभ ’ ———————————————————— लोककवि रामचरन गुप्त की रचनाओं को पढकर यह

Read more

#Lekh ( Samiksha) by M M Chandra

वरिष्ठ  व्यंग्यकार गिरीश पंकज जी द्वारा आपके मित्र के लघु उपन्यास  “प्रोस्तोर” की समीक्षा …………………………………………… औद्योगिक जगत के भयावह चेहरे

Read more

#Lekh by Sanjay Verma

मन्वन्तर संग्रह पर प्रतिक्रिया सामाजिक समरसता- सदभाव एवं विकास की वैचारिक  मन्वन्तर अवैतनिक-अव्यावसायिक -अनियतकालिक है|  संपादक हरिशंकर वट ने विभिन्न

Read more

#Lekh by Swayambhu Shalabh

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर आज देशभर में आयोजित हो रहे विभिन्न कार्यक्रमों के बीच चलिये आज इसी विषय पर कुछ

Read more
Whatspp dwara kavita bhejne ke liye yahan click karein.