#Dr. Sulaxna Ahlawat

मैंभीचौकीदार_हूँ

अब बन गयी समझदार हूँ,
क्योंकि मैं भी चौकीदार हूँ।

गद्दारों को नहीं पालना है,
पकड़कर जेल में डालना है,
बस इसी बदलाव के लिए,
मतदान करने को तैयार हूँ,
क्योंकि मैं भी चौकीदार हूँ।

देश को आगे लेकर जाना है,
बहकावे में अब नहीं आना है,
सबका साथ, सबका विकास,
इसी के लिए मैं जिम्मेदार हूँ,
क्योंकि मैं भी चौकीदार हूँ।

भ्रष्टाचार पर रोक लगाने को,
देश को विश्वगुरु बनाने को,
मत देकर अपना लोकतंत्र में,
मैं बनना चाहती भागीदार हूँ,
क्योंकि मैं भी चौकीदार हूँ।

अंतिम छोर तक पहुंचे सुविधा,
मन में ना रहे किसी के दुविधा,
जन जन की हो सीधी सुनवाई,
बनाना चाहती ऐसी सरकार हूँ,
क्योंकि मैं भी चौकीदार हूँ।

लोगों को आइना दिखाऊँ मैं,
सारा सच सामने ले आऊँ मैं,
सोते हुए लोगों को जगा सकूं,
यूँ मैं शब्दों से करती प्रहार हूँ,
क्योंकि मैं भी चौकीदार हूँ।

जिसने देश झुकने नहीं दिया,
विकास को रुकने नहीं दिया,
सेना को खुली छूट दी जिसने,
उनके पक्ष में भरती हुंकार हूँ,
क्योंकि मैं भी चौकीदार हूँ।

“सुलक्षणा” कर्म करती रहती हूँ,
अन्याय कभी नहीं सहती हूँ,
दुश्मन भी जिससे कांपते हैं,
रणक्षेत्र की वो ललकार हूँ,
क्योंकि मैं भी चौकीदार हूँ।

डॉ सुलक्षणा

Leave a Reply

Your email address will not be published.