#Gazal By Alka Jain

तड़फ तड़फ के दिलाने की जान पर बन आई

नादानी में हुस्न की मगर कमी न आई
कंचन कंचन काया हुस्न की आरजू सबसे बड़ी
चंचल चंचल नयन यार के कमजोरी सबसे बड़ी
मुश्किल बडा इन्तजार का मंजर इश्क में
उस पर हुस्न के नखरे क़यामत क़यामत
मोती को दगा दे दें के  जिन्दा है दिवाना
एक वादा हुस्न का है एक जनून परवाने का
तड़फ तड़फ के दिवाने की जान पर बन आई
नादानियों में हुस्न के मगर कमी न  देखी गई

Leave a Reply

Your email address will not be published.