#Gazal by Jasveer Singh Haldhar

आज के गजल -हमें तो पास होना है

बहर ———-1222×4

——————————

हमें ना यूँ हटाये तू हमे तो पास होना है !

हमें असमान से आयी परी का खास होना है !

जुदा मत कर लवों को और तू पीने पिलाने दे ,

गुजरते वक्त का हमको अभी ना दास होना है !

जवानी काट देंगे हम तिरी उन्मुक्त बाहों में ,

छुपा ले दिल के कोने में वहीं उपवास होना है !

उठेगा शोर पानी में जलध में भी उफ़ा होगा ,

उफनती धार के घर में हमारा वास होना है !

लगेगी आग माँटी में धुआं हर ओर छाएगा ,

धरा पर जो भी आया है सभी को लाश होना है !

चमन में टहल के आया गुलों की खैर भी पूंछी ,

यहीं खारों के जंगल में कहीं वनबास होना है !

हटाया आइना घर से नहीं तो सच बता देगा ,

सफेदी मुँह चिड़ाएगी गमे अहसास होना है !

धरा आँसू बहाएगी गिरेंगे आग के गोले ,

अगर माना नहीं “हलधर ” जमी का नाश होना है !

हलधर -9897346173

 

88 Total Views 3 Views Today

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Whatspp dwara kavita bhejne ke liye yahan click karein.