#Gazal By Pradeep Mani Tiwari

चार पंक्तियाँ…………………….
★★★★★★★★★★★★

काश,हर कोई वतन के नाम पर क़ुर्वान हो।
मुल्कवासी सरफ़रोशी रख चलें ईमान हो।
और कोई दे शहादत ये नहीं चाहत रखें,
सबसे पहले ख़ुद करें दुनिया में अपनी शान हो।
हमवतन के साथ रिश्ता दिल लगा कर हम रखें,
वो करे गद्दारियाँ बेशक जो बस नादान हो।
मुल्क़ पहले ख़ास अपने दिल में हम रखकर चलें,
जंग़ हो या दोस्ती खुलकर करें आसान हो।

★★★★★★★★★★★★
कवि शायर प्रदीप ध्रुवभोपाली, भोपाल,

Leave a Reply

Your email address will not be published.