#Gazal by Vicky Jane

रात हुई क्या……

 

==========================

 

उनके घर से निकलने से रात हुई क्या?

 

चाँद तेरी मेरे सनम से बात हुई क्या?

 

 

करके देख लिया कई इशारे पलकों से,

 

दीवानी हमसे सारी कायनात हुई क्या?

 

 

भेदभाव तो इंसान तक ठीक रहा लेकिन,

 

भला परिंदों की भी कोई जात हुई क्या?

 

 

कहना सच-सच कुदरत अब तु मुझसे,

 

बूढ़े पेड़ों की फिरसे हरी पात हुई क्या?

 

 

देखते उनको रहे “विक्की” दिन रात,

 

आँखो से आँखो की मुलाकात हुई क्या?

 

विक्की जाने “विवेक”  मौदा (नागपुर)  8625908735

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.