#Geet by Mukesh Marwari Nawalpuri

गीत:-

 

“मिशन राम मंदिर”

 

इस राम लल्ला की धरती को,

कष्टों से मालिक दूर करो ।

बरसों से लल्ला बाहर खड़े,

उन पर मन्दिर की छात धरो ।

 

यहां कण- कण है राम प्रभू ,

हर गलियारे सीता मैय्या ।

लव -कुश की मीठी वाणी गूंजी,

और त्याग मिला लक्ष्मण भैया ।

केवट का सम्मान यहां,

गाये है सरयू पानी ।

अपने राम को पाने को,

रोये है अयोध्या रानी ।

हे योगी जी अब तो तुम,

इस धरती का कल्याण करो ।

बरसों से लल्ला बाहर…………………………..

 

कई अरसों पहले मीर बाकी ने,

लाखों जुल्म ढहाए थे ‌।

अठखेली करते थे अन्दर,

उनको बाहर बिठाए थे ।

तोड़ – फोड़ करके मन्दिर को,

मस्जिद रुप बना डाला ।

खुदा और भगवान यहां पर,

दोनों को झगड़ा डाला ।

हे योगी जी अब तो तुम,

इन दोनों में मिलाप करो ।

बरसों से लल्ला बाहर………………………….

 

 

ना छोड़ो ना ही मारो,

और ना कोई तुम धीर धरो ।

मन्दिर वहीं बनाएंगे,

ये नाद वाद्य गम्भीर करो ।

जब तब ना शुरू काम,

ना तुम कोई उपकार करो ।

जो भी रोड़ा बने निर्माण में,

उस नर का नरसंहार करो ।

बरसों से लल्ला बाहर ……………………………

 

कवि मुकेश मारवाड़ी  “नवलपुरी” मो. :- 8502017648

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.