#Geet by Raj Shukla Nrm

गीत

सूने दिल में भरीं तूने रंगीनिया

जान तेरी मुहब्बत की क्या बात है

दुनिया वालों की खातिर कोई गम न कर

दूर हैं ये तो क्या जब खुदा साथ है

 

प्यार का एक पल जिंदगी से बड़ा

तू मिली तो मुझे हर खुशी मिल गई

मानो तपते हुए रेत में प्यासे को

ठंडे पानी की बहती नदी मिल गई

पास तू है तो डर भी नहीं मौत का

तेरे आगे कयामत की क्या बात है

सूने———————————

 

तेरी मुस्कान पे जान हाजिर सनम

हँस के कर दे इशारा तो मर जायेंगे

इश्क से तो बड़ी कोई शै ही नहीं

इसकी खातिर ही हैं और गुजर जायेंगे

हाँथ तेरा मिले साथ तेरा मिले

तो जहां भर की दौलत की क्या बात है

सूने———————————

 

जाम जैसी हो तुम चढ रहा है नशा

लग रहीं आज तुम हुष्न की मल्लिका

आओ मिल के मिटा दो सभी फासले

होने दो अब मिलन प्रेम से प्रेम का

मिल गये दिल से दिल तो खड़ी दूर क्यों

राज अब भी नजाकत की क्या बात है

सूने——————————–

 

राज शुक्ल “नम्र”

Leave a Reply

Your email address will not be published.