#Kavita by Ajay Jaihari Kritipad

-जबरदस्ती की ट्यूशन–

 

जो करेगा जबरदस्ती

उसको मजा चखायेगा

आज के बाद कोई भी बच्चा

ट्यूशन पढ़ने नहीं जायेगा

पेरेंट्स व टीचर मेंं

कोई बात हुई हो पर्सनल

जब तो ठीक है

पर टीचर करे जबरदस्ती

.  ये दुनिया की कौनसी

नयी रीत है

मेरी नजर में यह तो

टीचर द्वारा बच्चे से जबरदस्ती

मांगी गई भीख है

पर बच्चा कैसे करेगा

टीचर की शिकायत

संस्थापक या सरकार से

संस्थापक कहेगा पेरेंट्स से

अगर मैं हटा दूंगा

टीचर को पद से

तो सोच लेना आपका बच्चा

हिंदी,संस्कृत,सामाजिक तो

पढ़ लेगा जैसे तैसे

पर अंग्रेजी, गणित व विज्ञान

में कमजोर रह जायेगा

बस इतना सुनते ही पेरेंट्स

अपने बच्चे का

भविष्य खराब होते देख

चोरी चुपके

घर को लौट आयेगा

और फिर

जबरदस्ती ट्यूशन वाले

टीचरों से

बच्चों की ट्यूशन लगायेगा

पर घबराने की बात

नहीं दोस्तों

टीचर होगा अच्छा तो

बच्चों को पास बुलाकर

प्रेम से समझायेगा

जो आ नहीं रहा बच्चे को

उस पर सिर खपायेगा

आज नहीं आया तो बेटा

कोई बात नहीं

कल तू इस सवाल को

जरुर कर पायेगा

कम से कम इतना

विश्वास तो

बच्चे मेंं पैदा कर पायेगा

जिस दिन वो बच्चा

पढ़ लिखकर

कोई बड़ा अधिकारी

बन जायेगा

एक रुपया नहीं लेगा

रिश्वत का

ईमानदारी से कर्तव्य

निभायेगा

मुझे तो तब

और ज्यादा खुशी होगी

जब मेरा ये मेसेज

हर पेरेंट्स व स्कूल

संस्थापक के पास पहुंच

जायेगा

और हर बच्चा बिना

कोंचिग व ट्यूशन पड़े

ही मेरीट मेंं आयेगा

कवि अजय जयहरि कीर्तिप्रद

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.