#Kavita by Amit Kaithwar Mitouli

पिस्टल के जमाने में खंजरों का क्या करें.

फूलों के जमाने में पत्थरों का क्या करें.

 

 

इस गर्मी से निपटा जा सकता है लेकिन .

मेरे खुदा बताओ इन मच्छरों क्या करें.

 

 

 

जंगली या पालतू सुधर जाएंगे लेकिन .

बताओ दलबदलू सियासी बंदरों क्या करें.

 

 

मंदिर औ मस्जिद के लिए खून बहेगा.

तो ऐसी मस्जिद औ मंदिरों का क्या करें .

 

 

तन्त्र मन्त्र जादू टोना उस पर नहीं चला.

तो ऐसे जादू टोना औ मंत्रों का क्या करें .

 

 

जहाँ मिलती है सिर्फ़ धूल खाली कुर्सी पर .

बताओ ऐसे सरकारी दफ़्तरों का क्या करें .

— अमित कैथवार मितौली —-   – 9161642312 –

 

84 Total Views 3 Views Today

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Whatspp dwara kavita bhejne ke liye yahan click karein.