#Kavita by Anantram Chaubey

हमदर्दी

हमदर्दी
दिखाने
वाले
बहुत से
लोग है
जमाने में ।
कई तो ऐसी
हमदर्दी
दिखाते है
सिर्फ नीचा
दिखाने में ।
ये तो चमचे
भी नही है
जो अपने
स्वार्थ के लिये
हाँ में हाँ
मिलाते है ।
बिन पेंदी के
लोटे भी नही है
जो पल्ले को
भारी देखकर
उसी तरफ
लुड़क जाते है ।
ये तो वो है
जिस पत्तल
में खाते हैं ।
उसी में छेद
भी करते है ।
हमदर्दी के
नाम से मौका
मिलने पर हमेशा
नीचा दिखाते है ।
अनन्तराम चौबे
अनन्त

Leave a Reply

Your email address will not be published.