#Kavita by Anantram Chaubey

किसी राह से

**

 

जब भी

किसी एक

राह से

गुजरता हूँ

हिचकी

आती है ।

पता नही

किसकी

याद आती है ।

जहन मे

छुपी बहुत

सी यादे

उस राह में

गुजरने से

याद आती है ।

 

अनन्तराम चौबे

*  अनन्त *

जबलपुर म प्र

Leave a Reply

Your email address will not be published.