#Kavita by Anantram Chaubey

हम सफर

हम सफर
का साथ होना ।
जीवन का है
सुन्दर सपना ।
सभीअकेले ही आये है
साथ कोई न जायेगे ।
मंजिल की राहें कठिन है ।
मंजिल पर तो जायेगे
जन्म और मृत्यु के बीच में
सफर काटना पड़ता है ।
हम सफर कोई मिल जाये
समय खुशी से कट जाये ।
बचपन में बच्चे मिलकर
आपस मे खुश रहते है ।
पढने के समय मे बच्चे
आपस मे मिलकर पढते है ।
बचपन और युवापन तो
ऐसे ही कट जाता है ।
आये जवानी तभी तो
हमसफर याद आता है ।
जीवन की नई मंजिल आये ।
शादी की जब उम्र है आये ।
एक हमसफर गर मिल जाये
जीवन सुखमय कट जाये
शादी केे बंधन से दोनो
पति पत्नी बन जाते है ।
जीवन के सफर में दोनो
हमसफर बनकर रहते है ।
अनन्तराम चौबे

Leave a Reply

Your email address will not be published.