#Kavita by Anantram Chaubey

मोहब्बत

मोहब्बत तलाशी
नही तराशी जाती है ।
मोहब्बत की मूरत
दिल में बसी होती है ।
मोहब्बत तलाशी नही
मोहब्बत हो जाती है ।
वो हसीन पल वो क्षण
जब भी किसी की
जिन्दगी में आता है ।
आँखो का मिलन
आँखो ही आँखो मे
एक दूसरे से होता है ।
प्यार हो जाता है ।
दो दिलो का आपस
में मिलन हो जाता है ।
ये प्यार ये मोहब्बत
बड़ी अजीव है प्यारी है ।
दिल को भी बैचेन करे
दिल  की ये वीमारी है  ।
पल पल घटती बढती है
बहुत बड़ी वीमारी है ।
मोहब्बत एक दर्द भरा
खूबसूरत  एहसास है ।
तलासने नही मिलती है ।
ढूढो कही नही मिलती है
मोहब्बत का ऐसा रिश्ता
दो दिलो में बसता है।
प्यार किसी से हो जाये
दो दिलो के मेल से जुड़ता है ।
अनन्तराम चौबे
* अनन्त *

Leave a Reply

Your email address will not be published.