#Kavita by Ashrit Katheria

चलो नौनिहालो,

बस्ता संभालो…

“”””””””””””””””””””””

हुईं  छुट्टी  खतम

मौज-मस्तीं हज़म,

नव शिक्षा-सत्र की

अब ख़ुशी मना लो!

चलो नौनिहालो…

“”””””””””””””‘””””””””

वो नानी का घर

मामा का दुलार,

मीठी सी शरारतें

अब तुम भुला लो!

चलो नौनिहालो…

“””””””””””””””””””””””

रोना,गाना नहीं

कोई बहाना नहीं,

स्कूल बुला रहा

उठो मुस्कुरा लो!

चलो नौनिहालो…

“””””””””””””””””””””””

कॉपी,कलम,किताब

पापा से मंगा लो,

फिर स्कूल की ओर

तुम कदम बढ़ा लो!

चलो नौनिहालो…

“””””””””””””””””””””””

टीचर से हँसकर

गले लग जाओ

फिर मम्मी की दी,

चॉकलेट खिला दो!

चलो नौनिहालो…

“””””””””””””””””””””””

देश की उम्मीदें

हैं तुम पर टिकी,

पढ़- लिख  कर

कुछ फ़र्ज निभालो!

चलो नौनिहालो,

बस्ता संभालो…

“””””””””””””””””””””

…✍”आश्रित कठेरिया”

दिबियापुर (औरैया)

9455816555

Leave a Reply

Your email address will not be published.