#Kavita by Ashutosh Anand Dubey

बीजेपीपीडीपीगठबंधन_खत्म पर त्वरित प्रतिक्रिया —

 

काश्मीर में पत्थरबाजी नहीं रुकी गठबंधन से।

आतंकी टोली बिलकुल भी नहीं झुकी गठबंधन से॥

 

ना करार हो सका तिरंगा काश्मीर में लहराए।

ना ही दो झंडों के नीचे भारत की जय कह पाए॥

 

काश्मीर अब भी शापित है धारा तीन सौ सत्तर से।

गठबंधन से कहां मिला छुटकारा हमको पत्थर से॥

 

केन्द्र तुम्हारे साथ रहा पर तुम ही कोने पड़े रहे।

घाटी में गली गली आतंकी सीना ताने खड़े रहे॥

 

रमजानी हफ्तों में जब सेना पर अत्याचार किया।

आतंकी गोली ने जवान औरंगजेब को मार दिया॥

 

सेना अब भी घायल बैठी हाथों में हथकड़ियां हैं।

आज मान लो महबूबा अंतिम सरकारी घड़ियां हैं॥

 

कसम शहादत की वीरों का रक्त नहीं दूषित होगा।

घाटी में अब आतंकी पत्थरबाज नहीं पोषित होगा॥

 

अत्याचारों से भरा हुआ वह घड़ा पाप का फूट गया।

साथ नहीं मिल सका तभी तो यह गठबंधन टूट गया॥

 

©आशुतोष’आनंद’दुबे

09584642494

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.