#Kavita by ram krishal sharma ‘ baichain ‘

।महान है नारी।

देश का सम्मान है नारी,

देश की शान है नारी।

कुदरत के हर करिश्मे से,

महान है नारी।।

माँ का अरमान है नारी,

पति का आत्मसम्मान है नारी।

पिता का अभिमान है नारी ,

बच्चे की मुस्कान है नारी ।।

सबकी जननी है नारी,

सबकी पालनहार है नारी।

सुख-सम्रद्धि और ज्ञान की,

पहचान है नारी।।

स्नेह और ममता का भडांर है नारी,

भगवान से मिला वरदान है नारी।

पापियों के लिए शाप है नारी,

दान करने के लिए कन्यादान है नारी।।

देश का सम्मान है नारी,

देश की शान है नारी।

कुदरत के हर करिश्मे से,

महान है नारी।।

Leave a Reply

Your email address will not be published.