#Kavita by Shambhu Nath

तुम्हारे ही भाग्य में//
तारो को छू सको तुम///
उनके सौभाग्य से///
मेरा हाथ है तेरे सर पर ///
तुम दीप बन के दमको///
हरदम लगे दुआये//
तुम हूर बन के चमको//
देती आशीष रहूगी///
तुम फूल बनके गमको///
रोशन करोगे नाम जब///
मन खिलेगा हमारा///
इतिहास लिखोगे तुम भी///
आशीर्वाद है हमारा///
हम रब से दुआ करेगे///
तुम चाँद बन चमको///

Leave a Reply

Your email address will not be published.