#Kavita by Gopal Kaushal

चिड़िया

***

चीं – चीं करती आंगन में चिड़िया आई

संग अपने तिनका-तिनका बिनकर लाई ।

पंख खोलकर बच्चों संग खूब इठलाई

घरौंदे के  लिए  समान जो जुटा  लाई ।।

बच्चों मत करों आपस में तुम लडाई

मैं तिनके संग दाना -पानी भी हूँ लाई ।

तिनके-तिनके से बनता है आशियाना

इसलिए हमारा घर मत तोड़ना भाई ।।

80 Total Views 3 Views Today
Share This

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *