#Kavita by Kavi Nadeem Khan Anuj

कब तक दूसरों का कत्ल ए आम मचाओगे कब तक चलाओगे तुम ज़िहाद

दोनो हाथ उठाकर बोलूँगा हिंदुस्तान ज़िन्दाबाद हिंदुस्तान ज़िन्दाबाद

तुम्हारे जुल्मों सितम से क्या शहीद करदें  हम हिंदुस्तानी नारों को

सरकार चुप्पी साधे बेठी रहे तो सबक सिखा दे जनता हिन्दुस्तानी गद्दारो को

करदो चप्पे चप्पे पर राणा जैसे वीरों को आबाद

दोनो हाथ उठाकर बोलूँगा हिंदुस्तान ज़िन्दाबाद हिंदुस्तान ज़िन्दाबाद

हिन्द के चमन कश्मीर में तुम यूँ ना पत्थर बरसाओ

केसर की क्यारी में रहते हो इसी से अपने मन को हर्षाओ

मत करो तुम इस तरह हिन्द के चमन को बर्बाद

दोनो हाथ उठाकर बोलूँगा हिंदुस्तान ज़िन्दाबाद हिंदुस्तान ज़िन्दाबाद

एक एक करके शहीद होने से अच्छा है एक बार में शहीद हो जाए

गांधी के सपनों के भारत में खुशियों की दीवाली और ईद हो जाए

युद्ध करो और करदो आतंकिस्तान को बर्बाद

दोनो हाथ उठाकर बोलूँगा हिंदुस्तान ज़िन्दाबाद हिंदुस्तान ज़िन्दाबाद

By : Nadeem Khan Anuj

Leave a Reply

Your email address will not be published.