#Kavita by Kavi Piyush Sharma Rajasthan

: घनाक्षरी पर प्रयास

———————————————

जनता पे आप आज, कीजिये न अत्याचार,

नेताओ की कमाई को, देश को बताइए

 

सोते हुए गरीबो पे, लाठियाँ चलाने वालों

ऐसी करतूतों पर, थोड़ा तो लजाइए

 

छल की लिए जो छाया, छुपा हुआ चेहरा है

परदा उठाके उसे ,देश को दिखाइए

 

रख कर मन काला ,स्वच्छता की बात करे

ऐसे बहरूप से न , हमें बहलाइए

 

 

##पीयूष शर्मा”परिन्दा”

Leave a Reply

Your email address will not be published.